Aries (मेष)

Monthly Horoscope

मेष – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ

राशि अनुसार दशा -इस समय आप 03 फरवरी से 13 अप्र्रेल तक 70 दिन की शुक्र की दशाा भोग रहे है। जो कि सुखकारक समय है। इसके पश्चात् 04 मई तक 20 दिन की सूर्य की दशा रहेगी जो कि प्रवासकारक समय होगा।

1 से 15 अप्रेल – आपको बौद्धिक चातुर्य प्राचण्ड आत्मविशवास अंदाज से चकाचैंध कर देने वाले तूफान उठेंगे। छोटी बड़ी खिन्नताओं से इतना ज्यादा परेषान न हो कि आप खुद पर से नियंत्रण खो दें। इन्हें शांति से हल कीजिये। बच्चों के भविष्य के प्रति सपने बुनना । और अपनी रूचियों के अनुसार उनको ढालना आपको व्यस्त रखेगा। मकान, घर – परिवार, माता पिता आपसे ध्यान देनें की मांग जारी रखेंगे। कड़ी मशक्कत वाला रूझान जारी रहेगा। परिवार और जायदाद के मामले आपको आर्कषित करेंगे। आपके मानसिक बुनावट, नैतिक चरित्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। चाहे इसके लिए कुछ भी करना पड़े आप इसको बरकरार रखने में ख्वाहिशमंद होंगे। आपके लिए कड़ी मेहनत का समय है। आप पद व शक्ति का प्रयोग करने के लिए प्रयासरत होंगे।

16 से 30 अप्रेल – धन की दृष्टि से आप बड़ी सफलता प्राप्त करने के लिए काम करने का पूरा लुफ्त उठायेंगे। ऐसा नहीं कि आप काम और केवल धन पर ही केन्द्रित होंगे। आप अन्य कामों के लिए भी समय निकाल लेंगे। बड़े बुजुर्ग आपकी खुषियों के स्त्रोत बनेंगे। आपकी भावी योजनाओं व परियोजनाओं की धमाकेदार शुरूआत करने तक आप अपनी ऊर्जा व उत्तेजना को सीमित, जासूसी, भेद लेनें वाली तथा षड़यंत्रकारी गतिविधियों में उलझेंगे। अब आपके पास अन्य वचनबद्धताओं एवं पारिवारिक सम्बंधों जैसी अन्य भावात्मक अन्धनो के लिये भी समय होगा। आप कार्य क्षेत्र के लिए जरूरी चीजें लेनें से लेकर शेयर मार्केट में भी अपनी किस्मत आजमायेंगे।

 

इन्हें अपनाए और कष्टों से निजात पाए :

  1. प्रात:काल सूर्योदय के समय भगवान् सूर्य को अध्र्य देना चाहिए।
  2. माणिक्य, मूंगा और पुखराज रत्न धारण करने चाहिए।
  3. सातमुखी रूद्राक्ष की माला गले में धारण करनी चाहिए।
  4. ‘ॐ शं शनैश्चराय नम:’ तथा ‘ॐ कें केतवे नम:’ मन्त्र का अधिकाधिक जप करना चाहिए।
  5. मृत्युंजय मन्त्र ‘ॐ जूं स:’ का जप करना चाहिए।
  6. भगवान् शिव एवं हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए।
  7. पीपल के पेड़ पर नित्य जल चढ़नाा चाहिए तथा शानिवार को वहा¡ तेल का दीपक जलाना चाहिए।
  8. आध्यात्मिक गुरू बनाए¡ और उनका अधिकाधिक आ’ाीर्वाद प्राप्त करें।

आपके लिए शुभ :-

  1. शुभ ग्रह- सूर्य, मंगल, गुरू
  2. शुभ राशि- मेष, सिंह, वृश्चिक, धनु
  3. शुभ रंग- लाल, मेहरून, पीला, गुलाबी
  4. शुभ वार- रविवार, मंगलवार, गुरूवार
  5. शुभ अंक- 1, 2, 3, 4 एवं 7 अंक
  6. शुभ रत्न- माणिक्य, मूंगा एवं पुखराज
  7. शुभ रूद्राक्ष- एकमुखी रूद्राक्ष, तीनमुख रूद्राक्ष, पंचमुखी रूद्राक्ष
  8. शुभ देवता- सूर्य, कार्तिकेय, हनुमान् जी
  9. शुभ व्रत- मंगलवार एवं अष्टमी तिथि