Cancer (कर्क)

Monthly Horoscope

कर्क – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो

राशि के अनुसार दशा -इस समय आप 22 मार्च से 04 मई तक 42 दिन की राहु की दशा भोग रहें है जो कि शोक कारक समय है।

1 से 15 अप्रैल – तमाम विवादों और अन्तर्विरोधों के बावजूद आप लक्ष्य प्राप्ति में अग्रसर होंगे। किसी की इच्छा के पूरा होनें की बहुत सम्भावना है। सामूहिक गतिविधियों, व्यस्त कर देनें वाली सामाजिकता आपको चमक दमक और फायदों की ओर ले जा सकती है। काम ही मुख्य केन्द्र बिन्दू होगा। लेकिन इसमे स्वास्थ्य की देखरेख व सुरक्षा करनी पड़ेगी। अत्यधिक तनाव व बैचेनी से बचना होगा। नये व्यवसाय, उधम शुभारम्भ करने के लिए अच्छा समय है।

आप मानवीय स्वभाव व स्वयं पर अपनी आस्था के पुर्नस्थापित होने के बाद अब शक्ति और पराक्रम का शानदार प्रदर्शन करेंगे। भूमि –जायदाद, भवन निर्माण कार्य पर प्रबलता से ध्यान केन्द्रित करेंगे।

16 से 30 अप्रैल – इस समय आप थोड़ा बहुत आत्म निरीक्षण और अनिष्यच की अवस्था में होंगे इसके बावजूद आप आत्मविष्वाष के साथ जीवन संघर्ष में उतर पड़ेंगे आपका कारोबार व्यवस्थित गति से चलते हुए भी आपको कमी नजर आयेगी। आपको मनोनुकूल लाभ मिलने में परेषानी होगी। आप व्यापार की मंद गति से बौखला जायेंगे और आपका व्यवहार, परिवार निकट सम्बन्धियों एवं जीवन साथी के साथ सौहार्दपूर्ण नहीं रहेगा। धनार्जन की पर्याप्त क्षमता व आय के अनेकानेक स्त्रोतों के बावजूद भी ताजातरीन अनुबंधों का अभाव आपको फलेगा। इतने पर भी मित्रों, शुभचिंतकों, उच्च अधिकारियों व बाहरी लोगों का समर्थन आपको पूर्ण प्राप्त होगा।

स्वास्थ्य आपका अनुकूल बना रहेगा। जो आपको पूर्ण उर्जा के साथ कार्य निरन्तर करते रहने के लिए प्रेरित करेगा।

इन्हें अपनाएँ कष्टों से निजात पाएं :

  1. मोती, मूंगा, पुखराज रत्न अथवा इनके उपरान्त धारण करने चाहिए।
  2. सातमुखी एवं नौमुखी रूद्राक्ष धारण करना चाहिए।
  3. ‘ॐ बृं बृहस्पतये नम:’, ‘ॐ शं शनै’चराय नम:’ तथा ‘ॐ कें केतवे नम:’ मन्त्र का अधिकाधिक जप करना चाहिए।
  4. मृत्युंजय मन्त्र ‘ॐ जूं स:’ का जप करना चाहिए।
  5. भगवान् शिव एवं हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए।
  6. पीपल के पेड़ पर नित्य जल चढ़नाा चाहिए तथा शनिवार को वहा¡ तेल का दीपक जलाना चाहिए।
  7. घर एवं व्यवसायिक स्थल पर काले घोड़े की नाल लगानी चाहिए।
  8. चींटियों को चुग्गा तथा कबूतरों को दाना डालना चाहिए।

आपके लिए शुभ :-

  1. शुभ ग्रह- चन्द्रमा, मंगल एवं गुरू
  2. शुभ राशि- मेष, सिंह, वृश्चिक, मीन
  3. शुभ रंग- क्रीम, लाल, पीला एवं कत्थई
  4. शुभ वार- सोमवार, मंगलवार एवं गुरूवार
  5. शुभ अंक- 1, 2 एवं 5
  6. शुभ रत्न- मोती, मूंगा एवं पुखराज
  7. शुभ रूद्राक्ष- दोमुखी रूद्राक्ष, तीनमुखी रूद्राक्ष एवं पंचमुखी रूद्राक्ष
  8. शुभ देवता- शिव, कार्तिकेय एवं विष्णु
  9. शुभ व्रत- सोमवार, प्रदोष एवं पूर्णिमा