शरद पूर्णिमा आज: चाँद की चाँदनी में करे ये कार्य

आश्विन मास की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा कहते हैं।  साल 2015 में यह दिन 26 अक्टूबर को है। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन चंद्रमा की किरणों में अमृत होता है। शरद पूर्णिमा पर चाँद अपनी १६ कलाएं पूर्ण करता है। शरद पूर्णिमा को “कोजागरी” या कोजागर पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। कहा जाता है की शरद पूर्णिमा पर महालक्ष्मी जी  रात को भ्रमण पर निकलती है, यह देखने को की कौन जाग रहा है, जो भी जाग रहा होता है देवी उनके ऊपर अपनी कृपा करती है और जो सो रहा होता है उनके घर में नहीं ठहरती है। लक्ष्मीजी के “को जागर्ति” (कौन जाग रहा है?) कहने के कारण ही इस दिन को कोजागर कहा जाता है।

 

आज की रात बहुत ख़ास है  और आज की रात निचे लिखे कुछ कार्य करने से आपके बहुत से कार्य सिद्ध हो सकते है।

ये है आज की ख़ास रात के ख़ास उपाय

1. जैसा की बताया  था की आज की रात महालक्ष्मी जी रात के  भ्रमण पर निकलती है यह देखने को कौन जाग रहा है।  और जो जाग रहा होता है उन पर अपनी कृपा बरसाती  है तो आज के दिन महालक्ष्मी जी के  इस मंत्र

॥ ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद

श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्मयै नमः ॥

का  जाप १०८ बार करने से और सच्चे मन से प्रार्थना करने से  महालक्ष्मी जी बहुत प्रसन होती है।

2. शरद पूर्णिमा पर छत पर चन्द्रमा के प्रकाश में खीर बनाये। और इस खीर का भोग शिव जी को लगा कर खुद भी प्रसाद ग्रहण करे। यह खीर सेहत के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होती है तथा इसे खाने से मानसिक शांति मिलती है।

3. शरद पूर्णिमा पर चन्द्रमा को लगातार कुछ देर तक एक टक देखने से आँखों को बहुत ज्यादा  फायदा मिलता है।

4. शरद पूर्णिमा की रात में हनुमान जी को चौमुखा दीपक अर्पित करे और साथ में हनुमान चालीसा का पाठ करे ऐसा करने से हनुमान जी की कृपा आप पर  बनी रहेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates for Astrology